BREAKING NEWS
Search
NBC News24

हमें अपनी खबर भेजे

Click Here!

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.

आखिर कब थमेंगे सिद्धू के बदलते रंग….

34

जयपुर, सुना है की गिरगिट समय समय पर रंग बदलता है लेकिन आज के आधुनिक इंसान भी इस जानवर की जैसी प्रवर्ति का होता जा रहा है।इसका सीधा सीधा उदाहरण हम नवजोत सिंग सिद्धू को ले सकते है जो किसी भी समय दल बदल सकते है.आप को बता दे की नवजोत सिंग क्रिकेट के खिलाडी थे 1999 तक उन्होंने क्रिकेट खेला इसके बाद से इनका राजनीती में अहम देखने मिलता रहा।

ये बीजेपी लोकसभा सीटो के लिए 2004 में अमृतसर के सांसद चुने गए। बीजेपी में रहते हुए इन्होंने कोंग्रेस को मुन्नि से ज्यादा बदनाम बताया कांग्रेस में गांधी परिवार के खिलाफ कमिया निकलने कमी नही छोड़ी। जिन्होंने वर्तमान के कांग्रेस के उम्मीदवार को अनपढ़ तक बोल डाला और स्कूल जाने की बात कही।

सिद्धू ने तो कांग्रेस के विरोध में किसी समय में सोनिया गाँधी और मनमोहन सिंग को भी अपना शिकार बनाते हुए कहा की इन्हे तो राष्ट्रवाद और राष्ट्रद्रो में अंतर ही नही पता। चुनाव प्रचार में सिद्धू कांग्रेस को नीचा दिखने में चूकते ही नही थे।बीजेपी को भला बताने के लिए यह तक कह दिया था कि उन्होंने कांग्रेस वालो ने गरीबो की रोटी तक छीन ली।

लेकिन ये जनाब तो ऐसा पलटे की कांगेस में आने के बाद बीजेपी पर वेसे ही निशाना साधने लगे जैसे बीजेपी में रहकर कांगेस पर साधा किया करते थे। बीजेपी में रहकर कॉग्रेस के उम्मीदवार को पप्पू बोलने बोले सिद्धू अब कांगेस में आ कर मोदी को चोकीदार , राफेल का दलाल बताने लगे है। और साथ ही चुनावी प्रक्रिया में अब मोदी पर निशाना साधना नही भूलते है। इनके ज्यादातर कारनामे तो ऐसे होते है कि ये महाशय अधिकतर चर्चा में ही बने रहते है। ये तो है लुढ़कू राम सिद्धू। लेकिन राजनीतिक पार्टियों में ऐसे और भी लुड़कु हमे मिल सकते है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »