Featured Video Play Icon

ऐड्स दिवस पर छात्र-छात्राओं द्वारा जागरूकता कार्यक्रम।

11

ऐड्स दिवस पर छात्र-छात्राओं द्वारा जागरूकता कार्यक्रम।

रूॅगटा अस्पताल की 30 वर्षो की उत्कृष्ठ चिकित्सा सेवा के साथ ही रूॅंगटा ऐजुकेषन ग्रुप के माध्यम से एक और कदम चिकित्सा षिक्षा के क्षेत्र में पिछले 5 वर्षो से रूॅंगटा नर्सिंग एवं पैरामेडिकल कॉलेज के द्वारा चिकित्सा षिक्षा के नर्सिंग एवं पैरामेडिकल क्षेत्र में अपनी उत्कृष्ठ सेवाए प्रदान कर रहा है।
दिनांक 01/12/2018 को ‘‘विष्व ऐड्स दिवस‘‘ के अवसर पर रूॅंगटा ग्रुप ऑफ ऐजुकेषन के नर्सीग एवं पैरामेडिकल कॉलेज के युवा छात्र-छात्राओं द्वारा ऐड्स पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन जी0टी0 सेन्ट्रल और क्रिस्टल कोर्ट के सामने, जे0एल0एन0 मार्ग, जयपुर पर किया गया। कार्यक्रम में रूॅंगटा नर्सिंग एंव पैरामेडिकल, जयपुर के 20 छात्र-छात्राओं द्वारा नुक्कड नाटक का आयोजन कर युवाओं को संदेष दिया कि कैसे युवा वर्ग अपने आप को इस लाइलाज बिमारी से बचा सकते है। नुक्कड नाटक में माध्यम से यह बताया गया कि किस प्रकार अस्पताल में कार्यरत कर्मचारीयों की लापरवाही की वजह से एच0आई0वी संक्रमण फैल सकता है। इसके पष््चात छात्र-छात्राओं द्वारा पोस्टर्स के माध्यम से ऐड्स नामक बिमारी के फैलने के मुख्य कारणों जैसे असुरक्षित योन संबध, संक्रमित रक्त व अंग प्रत्यारोपण, संक्रमित सुई एवं संक्रमित माता से नवजात षिषु इत्यादि के बारे में एंव उनके रोकथाम के उपायों के बारे में भी अवगत कराया गया। कार्यक्रम स्थल पर रूॅंगटा नर्सिंग एवं पैरामेडिकल कॉलेज के लगभग 200 विद्यार्थी और कर्मचारी एवं वहॉं उपस्थित अन्य युवा इस कार्यक्रम द्वारा इस विषय पर अति महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर लाभान्वित हुए।
नुक्कड नाटक एवं पोस्टर प्रदर्षन में रूॅंगटा नर्सिंग एवं पैरामेडिकल कॉलेज से हर्षिता, खुषिका, प्रेरणा, अंकिता, बर्खा, अल्पा, दिपक, भवानी, राजेष, योगेष, मेहूल, मोहित, भूरसिंह, रोहित, आषिष, एवं कुलदीप ने अपनी भागीदारी निभायी।

कार्यक्रम के अंत में रूॅंगटा ग्रुप ऑफ ऐजुकेषन के प्रबन्ध निदेषक श्री राषबिहारी रूॅंगटा जी ने कहा कि रूॅंगटा अस्पताल ने चिकित्सा सेवा में कई उत्कृष्ठ कार्या के साथ चिकित्सा षिक्षा को जोडकर एक समागम बनाया जिससे अस्पताल एवं चिकित्साकर्मी अच्छी चिकित्सा सेवा प्रदान कर सके एवं कॉलेज बेहतर षिक्षा देकर उच्च कोटि के चिकित्साकर्मी तैयार कर सके जिससे समाज के सभी तबको को उचित लाभ मिल सके।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »