BREAKING NEWS
Search
NBC News24

हमें अपनी खबर भेजे

Click Here!

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.
Featured Video Play Icon

चौमूं शहर में उपजे तनाव की चिंगारी पहुंची गोविन्दगढ़ तक

14

उपखंड का वह हिस्सा है जहां दोनो समुदायों के बीच शांति और सौहार्द्र हमेशा कायम रहता है। लेकिन इस बार प्रशासन व पुलिस ने अपनी हिटलर नीति दिखा कर गांव की शांति में दखल अंदाजी कर लोगो मे आक्रोश पनपा दिया। पुलिस की दमनकारी नीति के विरोध में कस्बे के बाजार बंद रहे। वहीं दूसरी ओर ग्रामीणों ने जब गांव के मुख्य मंदिर में सुंदरकांड करने की कोशिश की तो पुलिस ने ग्रामीणों को मंदिर से भगा दिया।जिस दौरान भारतीय सेना के एक जवान से पुलिस की अभद्रता भी सामने आई। सेना के जवान श्याम सुंदर ने बताया ऐसा कौन सा कानून है जिसके तहत एक आम नागरिक खुले में नही घूम सकता है,,,,सैनिक ने पुलिस पर दोनो समुदायों को आपस मे लड़वाने का आरोप लगाया है,,,,वहीं मामले को लेकर क्षेत्र के विधायक रामलाल शर्मा ने ग्रामीणों के बीच पहुंच कर पुलिस प्रशासन की दमनकारी नीतियों का विरोध किया। विधायक ने कहा यह कांग्रेस की तुष्टीकरण की राजनीति का उदाहरण है उन्होंने कहा रैली की अनुमति पर तंज कसते हुए कहा की क्या हर छोटे से कार्यक्रम के लिए परमिशन लेनी पड़ेगी।आपको बता दें कि पूरे प्रकरण में जयपुर ग्रामीण एडीशनल एसपी श्याम सिंह के प्रति लोगों में भारी नाराजगी उस वक्त देखने को मिली जब ग्रामीणों को पुलिस के द्वारा मंदिर में पूजा करने से रोका गया। मामले को लेकर एडीशनल एसपी श्याम सिंह ने मामले को लेकर मिडिया से दूरी बनाए रखी। तो वहीं विशेष समुदाय के लोगो ने भी रैली की अनुमति नही मिलने के मामले पर प्रशासन की निंदा की है। NBC News24




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »