BREAKING NEWS
Search
NBC News24

हमें अपनी खबर भेजे

Click Here!

Your browser is not supported for the Live Clock Timer, please visit the Support Center for support.

बजट 2019 – किसानों पर मेहरबान हुई केंद्र सरकार , खोला सुविधाओं का पिटारा

87

जयपुर , केंद्र सरकार ने 2019 बजट पेश किया है। जिसे विशेषज्ञ मिलाजुला बजट बता रहे हैं। पहले से ही इस बात की उम्मीद लगाई जा रही थी कि इस बजट में अन्नदाता का विशेष ध्यान रखा जाएगा..और सरकार ने ऐसा किया भी है। छोटे किसानों को बाजार की सहूलियत देने और बुनियादी सुविधाएं बढ़ाने के लिए ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर जोर दिया गया है। वित्‍तमंत्री ने महात्मा गांधी की कही हुई बात बात का समर्थन करते हुए कहा है कि असल भारत तो गांव में बसता है और  गांव के किसान उनकी हर योजना का प्रमुख बिंदु होगा। उधर बजट पेश करते हुए निर्मला सितारमण ने कहा है कि बजट के अनुरूप दस हजार नए किसान उत्पादक बनाए जाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत अब दाल में आत्मनिर्भर बन गया है।

इस कार्य के लिए सरकार किसानों का दिल से धन्यवाद करती है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हम ये भी उम्मीद करते हैं कि किसान इसी तरह तिलहन में भी जीत दिलाएंगे। इसके लिए सरकार कृषि क्षेत्र में निवेश करने जा रही है। साथ ही वित्तमंत्री ने ये भी कहा कि सरकार ने दस हजार किसान उत्पादक एफपीओ बनाने का लक्ष्य किया है। जिसमें किसानों को ennm से लाभ उठाने के प्रयास किए गए हैं। साथ ही वित्तमंत्री ने कहा कि किसानों को उस जगह पर पहुचाना है। जहां पर वे जीरो बजट खेती कर सके।

जिससे किसान को बाजार पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। किसानों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। जिससे उन्हें दोगुनी आय प्राप्त हो सके। एग्री इन्फ्रास्ट्रक्चर में निजी निवेश को बढ़ावा देने के लिए 10000 नई एफपीसी के निर्माण का समर्थन किया गया है…  राज्यों के साथ मिलकर ईएनएएम को लागू करने की योजना है। जीरो बजट खेती के मॉडल को आगे बढ़ाया जाएगा। इतना ही नहीं बजट पेश करते हुए उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि वर्ष 2024 तक देश के हर गांव और हर घर में पीने का पानी पहुंचाया जाए। ये कार्य जल जीवन मिशन के तहत किया जाएगा। इतना ही नहीं  उन्होंने कहा की आने वाले सालों में पीएम आवास योजना के तहत करीब 1.95 करोड़ घर बनाने का लक्ष्य रखा गया है।इसके लिए कार्य में तेजी लाई गई है। आपको बता दें कि पहले एक स्कीम में आवासों को बनाने में 314 दिन लग रहे थे,जिन्हें कम करके अब महज 114 दिन कर दिया गया है। साथ ही उन्‍होंने उज्ज्वला योजना के तहत गांव में मिले एलपीजी कनेक्शन, बिजली की सुविधा का भी जिक्र किया। साथ ही कहा कि साल 2022 तक सभी परिवारों को एलपीजी गैस कनेक्शन दिया जाएगा।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »